भारतीय सेना-पराक्रम की पराकाष्ठा। कुछ अनसुने तथ्य!

0
356

भारत मे सेना सिर्फ एक नाम नहीं है ये है एक भरोसा। प्रतिदिन होने वाले आतंकवादी हमलों के वावजूद अगर आज हम चैन की नींद सो पाते है तो इसकी वजह है भारतीय सेना का असीमित पराक्रम। ऐसा नहीं है कि सेना सिर्फ दुश्मनों से ही लड़तीं है मुझे आज भी याद है 2013 में आयी वो भीषण बाढ़ जिसने पूरे उत्तर भारत को हिला के रख दिया ऐसे में किसी फ़रिश्ते की तरह भारतीय सेना ने हजारों जिंदगियों को बचा लिया। सेना का ऐसा जज्बा अतुलनीय है।

आईये जानते है भारतीय सेना की वो बातें जिन्हें जानकर आप गर्व से भर जाएंगे।

भारतीय सेना की स्थापना 1776 में ईस्ट इंडिया कंपनी ने की थी।

भारतीय सेना के पूरे देश मे करीब 63 कैंटोनमेंट है।

भारत के पास दुनिया की सबसे बड़ी थल सेना है। शायद यही कारण है कि चीन जैसा शक्तिशाली देश भी हिंदुस्तान p आक्रमण करने से डरता है।

दुनियां में सिर्फ तीन देशों के पास ही घुड़सवार सेना है भारत उनमे से एक है।

दुनियां के सबसे ऊंचे सैन्य बेस पर भारतीय सेना पहरा देती है। सियाचिन में ये बेस 5000 मीटर की ऊँचाई पर है।

भारत की सबसे पुरानी पैरामिलिट्री फोर्स असम रायफल्स है। इसे 1835 में बनाया गया था।

लोगों की सुविधा के लिए दुनिया का सबसे ऊंचा ब्रिज भारतीय सेना ने ही बनाया है। ये लद्दाक में सुरु नदी के ऊपर बना है।

भरतीय सेना का जंगलो में लड़ने का तरीका बेमिसाल है। अमेरिका और रुस जैसे शक्तिशाली देश भी इस कला को सीखने के लिए भारतीय सेना के साथ अभ्यास करते है।

1990 के दशक में भारतीय सेना ने जब परमाणु परीक्षण किए तो दुनिया की कोई भी खुफिया एजेंसी इसका पता नहीं लगा पायी थी।

2013 में भारतीय सेना द्वारा चलाया गया राहत अभियान आज तक का सबसे बड़ा सैन्य अभियान है! इसमें सेना ने करीब 20 हजार लोगों को बाढ़ से बचाया था।

भारतीय सेना विश्व की सबसे एक्टिव सेना है! जिसे औसतन हर घंटे किसी न किसी अभियान को अंजाम देना पड़ता है।

ऐसे ही और रोचक तथ्य जानने के लिए जुड़े रहिये NNSFEED के साथ।

सभार

शिब्बू

किसी भी सवाल या सुझाव के लिए हमें मेल करें: info@nnsfeed.com
जय हिन्द
वन्देमातरम!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here