डॉ सुभाष चंद्रा का 17 रूपये से 30,000 करोड़ का सफ़र

0
323

“जब आपके पास खोने के लिए कुछ नहीं होता तब जीतने की शुरुआत होती है”

ऐसा कहना है डॉ सुभाष चंद्रा का| सुभाष चंद्रा का जन्म 30 नवम्बर 1950 में हरियाणा के छोटे से शहर हिसार में हुआ| डॉ सुभाष चंद्रा सिर्फ 20 बर्ष के थे जब वह केवल 17 रुपये लेकर काम के लिए निकले थे| इसके अलावा उनके पास आत्मविश्वास और बहुत बड़े-बड़े सपनो को पूरा करने का होंसला था|

 

  • व्यापार का मार्गदर्शन

    डॉ सुभाष चंद्रा का व्यापार का मार्गदर्शन उनके दादा जी ने कराया जो अनाज को खरीद-बेचने का काम करते थे| डॉ सुभाष चंद्रा स्कूल से वापस लौटने के बाद अपने दादा जी के साथ बैठा करते थे और उनके व्यापार में सहयोग करते थे| उनके दादा जी से उन्हें बहुत कुछ सिखने को भी मिला| दादा जी से उन्हें युक्तियाँ भी मिलती थी जैसे की कभी डरना नहीं, किये वादे को निभाना और हमेशा सच के साथ चलना| उनके दादा जी ने लोगो को बारीकी से समझना भी सिखाया

    • व्यापार की शुरुआत

      डॉ सुभाष चंद्रा वैसे तो इंजिनियर बनना चाहते थे| लेकिन उनकी रुचि व्यवसाय में ज्यादा होने लगी|

      1967 में पावारिक दाल मिल का व्यवसाय बहुत तेजी से गिरने लगा| उनके परिवार को भरी नुक्सान उठाना पड़ा| इस नुक्सान के चलते सुभाष चंद्रा की पढाई का खर्च उठाना भी मुशिकल हो गया और उन्हें परिवार की मदद के लिए पढाई बीच में ही छोडनी पड़ी| परिवार कर्ज में डूबने लगा जैसे-तैसे रिश्तेदारों और दोस्तों से लिए कर्ज को चूका दिया| लेकिन सुभाष चंद्रा ने हार नहीं मानी|

      1969 में सुभाष चंद्रा की मुलाकात FCI (Food Corporation of India) के मैनेजर से हुई| FCI से उन्हें दाल पोलिश करने का काम मिला| इससे उनके परिवार की आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ| 1971 में वे दिल्ली आ गये और यहाँ उन्होंने एक दाल मिल किराये पर चलाने लगे|

      1981 में हुए भारत और सोवियत संघ बीच हुए समझोते में उन्हें अनाज निर्यात करने का भी अवसर मिला| इससे उनको बहुत बड़ी मात्रा में लाभ मिला |

      1982 में उन्होंने Essel Packaging की शुरुआत की| कुछ समय बाद यह व्यापार भी बहुत तेजी से बढ़ने लगा| उन्होंने इस कंपनी का नाम बदल कर Essel Propack Ltd. कर दिया|

      • Zee TV का जन्म

      1989 में मुंबई के गोरई में 753 एकड़ जमीन खरीदी और EsselWorld (Amusement Park) की स्थापना की| इसके साथ ही उन्हें दूरदर्शन पर जाने का मौका भी मिला और यहीं से उनको एक प्राइवेट चेनल बनाने का ख्याल आया| लेकिन हिन्दुस्तान में नया चेनल शुरू करने पर बहुत प्रतिबन्ध और बाधाए थीं| फिर उन्होंने दूसरा रास्ता निकाला इसमें उन्हें 2 साल का समय लगा| उन्होंने 1992 में Hongkong से Zee TV Hongkong को शुरू किआ| यह भारत का पहला प्राइवेट Satellite चेनल था| यह चेनल कुछ घंटो के लिए ही टीवी पर प्रसारित होता था| कुछ समय बाद ये 24 घंटे टीवी पर प्रसारित होने लगा| इसके बाद से उन्होंने नए चेनल भी शुरू किये जैसे Zee Cinema और Zee News.आज के समय में देखे तो लगभग 75+ चेनल टीवी पर प्रदर्शित हो रहे हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here