इस भारतीय ने 1990 में की थी USB की खोज

0
498

Universal Serial Bus (USB) से आप सभी अच्छे से वाकिफ होंगे आज के डिजिटल युग में USB की 100 करोड़ से ज्यादा डिवाइस उपलब्ध है| लेकिन इसकी खोज किसने और कब की ये शायद बहुत कम लोगो को ही पता होगा| अगर आप एक भारतीय है तो ये आपके लिए गर्व की बात होगी| USB की खोज अजय भट्ट ने 1990 में Intel में काम करते हुए की थी| अजय भट्ट एक कंप्यूटर इंजिनियर है| अजय की इस खोज ने कंप्यूटर की दुनिया में एक क्रांति ला दी|

USB बनाने की जरुरत क्यों हुई?

अजय भट्ट इंटेल में काम करते थे और आज से 25 साल पहले अजय कंप्यूटर में मल्टीमीडिया कार्ड लगा रहे थे| मल्टीमीडिया कार्ड को कंप्यूटर में इनस्टॉल करने के लिए बहुत समय लगता था, तभी उनके दिमाग में USB का आईडिया आया और सोचा के अगर ऐसी कोई डिवाइस होती जिसमे बिना कंप्यूटर को खोले बहार से ही एक्सेस किआ जा सके|

पहली USB डिवाइस

USB को लेकर अजय ने Intel में कंप्यूटर एक्सपर्ट्स की एक टीम बनाई और इस पर काम शुरू कर दिया| इस प्रोजेक्ट को लेकर उन्होंने और उनकी टीम ने बहुत मेहनत की| 6 साल की कड़ी मेहनत के बाद 1990 में पहली बार USB का निर्माण हुआ| इस खोज ने कंप्यूटर की दुनिया में एक क्रांति ला दी|

USB के अलग-अलग Version

USB versions

गुजरात के हैं अजय भट्ट

अजय भट्ट का जन्म 6 सितम्बर 1957 में गुजरात के वडोदरा में हुआ| अजय ने ग्रेजुएशन ‘महाराजा सयाजीराव यूनिवर्सिटी ऑफ बड़ौदा’ से की और पोस्ट ग्रेजुएशन ‘The City University of New York’ से की| वर्तमान में अजय INTEL में Chief Client Platform Architect के पद पर कार्यरत हैं|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here